Republic Day Guest 2019: इस बार ये होंगे गणतंत्र दिवस के मुख्‍य अतिथि, 90 मिनट की होगी परेड

गणतंत्र दिवस (Republic Day) पर दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा मुख्य अतिथि होंगे. गणतंत्र दिवस समारोह की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) इंडिया गेट स्थित अमर जवान ज्योति पर शहीदों को पुष्पचक्र चढ़ाकर करेंगे.

Republic Day Guest 2019: इस बार ये होंगे गणतंत्र दिवस के मुख्‍य अतिथि, 90 मिनट की होगी परेड

Republic Day 26 January: गणतंत्र दिवस पर इस बार 90 मिनट की परेड होगी.

खास बातें

  • गणतंत्र दिवस पर दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति मुख्य अतिथि होंगे.
  • इस बार 90 मिनट की परेड होगी.
  • गणतंत्र दिवस के मौके पर विभिन्न राज्यों की झांकियों होगी.
नई दिल्ली:

गणतंत्र दिवस (Republic Day) हर साल 26 जनवरी (26 January) को बड़े ही उत्साह के साथ देश भर में मनाया जाता है. गणतंत्र दिवस (Republic Day 2019) की तैयारियां जोरो-शोरो पर हैं. इस बार गणतंत्र दिवस पर 90 मिनट की परेड होगी. परेड के मुख्य आकर्षणों में 58 जनजातीय अतिथि, विभिन्न राज्यों और केंद्र सरकार के विभागों की 22 झाकियां होगी. गणतंत्र दिवस पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम में दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा मुख्य अतिथि होंगे. गणतंत्र दिवस समारोह की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) इंडिया गेट स्थित अमर जवान ज्योति पर शहीदों को पुष्पचक्र चढ़ाकर करेंगे. गृह मंत्रालय के एक ज्ञापन में बताया गया कि इस साल के गणतंत्र दिवस के मौके पर विभिन्न राज्यों की झांकियों के साथ सांस्कृतिक, ऐतिहासिक और विकास पर आधारित केंद्र सरकार के विभागों की झांकियां परेड का हिस्सा होंगी. सांस्कृतिक विषय पर आधारित कुछ झांकियों में लोक नृत्य भी होगा. साथ ही राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजे गए 26 बच्चे भी खुली जीप में बैठकर झांकी का हिस्सा बनेंगे.

बता दें कि महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) की ‘समाधि' को सुरक्षा कवच मुहैया कराने वाले केंद्रीय अर्ध सैनिक बल सीआईएसएफ की झांकी भी इस बार 11 साल के अंतराल के बाद गणतंत्र दिवस परेड में हिस्सा ले रही है. बल की झांकी में महात्मा गांधी की समाधि पर सुरक्षा में तैनात जवानों को दिखाया जाएगा.

ये होंगे गणतंत्र दिवस के मुख्‍य अतिथि (Republic Day Guest 2019)
इस बार गणतंत्र दिवस (Republic Day Of India) पर दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा मुख्य अतिथि होंगे. विदेश मंत्रालय ने बताया कि रामफोसा के साथ उनकी पत्नी डॉ. शेपो मोसेपे, नौ मंत्रियों सहित उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल, वरिष्ठ अधिकारी और 50 सदस्यों का व्यावसायिक प्रतिनिधिमंडल भी होगा. बता दें कि नेल्सन मंडेला के बाद वह दक्षिण अफ्रीका के दूसरे राष्ट्रपति होंगे जो गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि होंगे.

क्यों मनाया जाता हैं गणतंत्र दिवस 
भारत को 15 अगस्त 1947 को आजादी मिली, जिसके बाद 26 जनवरी (26 January) 1950 को भारत गणतंत्र देश के रूप में बदला और देश में संविधान लागू हुआ. यही कारण है कि हर साल 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मनाया जाता है. पीआईबी (प्रेस इन्फॉरमेशन ब्यूरो, भारत सरकार) के अनुसार देश में 26 जनवरी 1950 को सुबह 10.18 बजे भारत एक गणतंत्र बना.

इस के छह मिनट बाद 10.24 बजे राजेंद्र प्रसाद ने भारत के पहले राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली थी. इस दिन पहली बार बतौर राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद बग्गी पर बैठकर राष्ट्रपति भवन से निकले थे. इस दिन पहली बार उन्होंने भारतीय सैन्य बल की सलामी ली थी. पहली बार उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया था. 


(पीटीआई इनपुट के साथ)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अन्य खबरें
दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा होंगे गणतंत्र दिवस समारोह के मुख्य अतिथि
गणतंत्र दिवस समारोह में इस खास तकनीक से पहचान लिए जाएंगे आतंकी