यह ख़बर 06 जुलाई, 2014 को प्रकाशित हुई थी

एलपीजी, केरोसीन के दाम में अभी बढ़ोतरी नहीं होगी : पेट्रोलियम मंत्री

धर्मेंद्र प्रधान की फाइल तस्वीर

नई दिल्ली:

एलपीजी तथा केरोसीन के दाम में तत्काल वृद्धि की संभावना को खारिज करते हुए पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा है कि नई सरकार सामान्य रूप से उपयोग में आने वाली रसोई गैस की सस्ती आपूर्ति की मौजूदा नीति को जारी रखेगी।

उन्होंने कहा, फिलहाल रसोई गैस तथा केरोसीन के दाम में वृद्धि नहीं होगी। हम मौजूदा मूल्य नीति को जारी रखेंगे। एलपीजी तथा केरोसीन पर सब्सिडी जारी रखने के साथ साथ एनडीए सरकार पूर्व यूपीए सरकार की डीजल के दाम में हर महीने 50 पैसा प्रति लीटर वृद्धि की नीति को भी जारी रखेगी।

उन्होंने कहा, मोदी सरकार से करोड़ों गरीबों की उम्मीदें बंधी हैं और उसी के बल पर वह सत्ता में आई है। सरकार उनके हितों को ध्यान में रखकर काम करेगी। सरकार रसोई गैस सिलेंडर पर भारी सब्सिडी दे रही है।

पिछली बार जून, 2011 में एलपीजी के दाम में 50 रुपये प्रति सिलेंडर (14.2 किलो) की वृद्धि की गई थी। बाद में दो बार कुल 14 रुपये की वृद्धि डीलरों को मिलने वाले कमीशन में बढ़ोतरी के कारण की गई। दिल्ली में एलपीजी का दाम फिलहाल 414 रुपये है, जो उसकी वास्तविक लागत से 449.17 रुपये कम है।

केरोसीन का दाम दिल्ली में फिलहाल 14.96 रुपये प्रति लीटर है। पिछली बार जून, 2011 में इसमें दो रुपये की वृद्धि की गई थी। केरोसीन पर मौजूदा सब्सिडी 33.07 रुपये है। धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि मोदी सरकार देश, गरीब जनता, युवा तथा महिलाओं को ध्यान में रखकर नीतियों पर निर्णय करेगी। हालांकि, उन्होंने कहा कि सब्सिडी जारी रखने का यह मतलब नहीं है कि सरकार सुधारों को आगे नहीं बढ़ाएगी। सब्सिडी और सुधार विरोधभासी नहीं हैं। वे साथ-साथ बने रह सकते हैं।

पेट्रोलियम मंत्री ने कहा कि नई सरकार घरेलू तेल एवं गैस उत्पादन में सुधार पर ध्यान दे रही है और ऐसी नीतियां ला रही है, जिससे निवेश आकर्षित होगा। उन्होंने कहा कि नई नीति निवेशकों का विश्वास बहाल करेगी। साथ ही उपभोक्ता के हितों की रक्षा करेगी। मोदी सरकार इसी दिशा में काम कर रही है।


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com