जीएसटी के बाद सब्सिडी वाला एलपीजी सिलेंडर 32 रुपये महंगा, छह साल में सबसे बड़ी कीमत वृद्धि

पुरानी अप्रत्यक्ष कर व्यवस्था में अलग-अलग फैक्टरी गेट शुल्क या बिक्री कर लगता था. इस व्यवस्था में एलपीजी पर देशभर में शून्य उत्पाद शुल्क था.

जीएसटी के बाद सब्सिडी वाला एलपीजी सिलेंडर 32 रुपये महंगा, छह साल में सबसे बड़ी कीमत वृद्धि

प्रतीकात्मक चित्र

खास बातें

  • पुरानी अप्रत्यक्ष कर व्यवस्था में LPG पर देशभर में शून्य उत्पाद शुल्क था
  • जीएसटी में एक दर्जन से ज्यादा केंद्रीय और राज्य शुल्क समाहित हो गए हैं
  • दिल्ली में अब सब्सिडी वाले सिलेंडर का दाम 477.46 रुपये हो गया है
नई दिल्ली:

माल एवं सेवा कर (जीएसटी) लागू होने के बाद सब्सिडी वाले रसोई गैस सिलेंडर (एलपीजी) के दाम करीब 32 रुपये बढ़ गए हैं. यह छह साल में सबसे बड़ी मूल्यवृद्धि है. दिल्ली में जीएसटी लागू होने के बाद सब्सिडी वाले एलपीजी के दाम 446.65 रुपये से बढ़कर 477.46 रुपये (14.2 किलोग्राम के सिलेंडर) हो गए हैं. जीएसटी 1 जुलाई से लागू हुआ है.

पुरानी अप्रत्यक्ष कर व्यवस्था में अलग-अलग फैक्टरी गेट शुल्क या बिक्री कर लगता था. इस व्यवस्था में एलपीजी पर देशभर में शून्य उत्पाद शुल्क था. वैट या बिक्री कर दिल्ली के अलावा चंडीगढ़, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर, राजस्थान, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल तथा कुछ पूर्वोत्तर के राज्यों में शून्य था. अन्य राज्यों में यह एक से पांच प्रतिशत था.

हालांकि, जीएसटी व्यवस्था में एक दर्जन से ज्यादा केंद्रीय और राज्य शुल्क समाहित हो गए हैं. इसमें सब्सिडी या रियायती मूल्य वाले रसोई गैस सिलेंडर पर पांच प्रतिशत कर लगाया गया है. ऐसे में जिन राज्यों में वैट शून्य या पांच प्रतिशत से कम है, वहीं एलपीजी का दाम बढ़ेगा. पेट्रोलियम कंपनियों से मिली जानकारी के अनुसार दिल्ली के अलावा कोलकाता में एलपीजी का दाम 31.67 रुपये बढ़कर 480.32 रुपये हो गया है. वहीं चेन्नई में यह 31.41 रुपये की वृद्धि के साथ 465.56 रुपये हो गया है.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com