विद्या बालन ने 'शंकुतला देवी' के किरदार में ढलने लिए बांसुरी बजाना सीखा, इस दिन रिलीज होगी फिल्म

विद्या बालन (Vidya Balan) एक ऐसी अभिनेत्री है, जो अभिनय को पर्दे पर सहज और खूबसूरती से उतारती है, और उनके हर प्रदर्शन के साथ हमें न केवल विद्या के बल्कि उनके द्वारा निभाए गए किरदार से भी प्यार हो जाता है.

विद्या बालन ने 'शंकुतला देवी' के किरदार में ढलने लिए बांसुरी बजाना सीखा, इस दिन रिलीज होगी फिल्म

नई दिल्ली:

विद्या बालन (Vidya Balan) एक ऐसी अभिनेत्री है, जो अभिनय को पर्दे पर सहज और खूबसूरती से उतारती है, और उनके हर प्रदर्शन के साथ हमें न केवल विद्या के बल्कि उनके द्वारा निभाए गए किरदार से भी प्यार हो जाता है. परिणीता में उल्लेखनीय भूमिका निभाने से लेकर लोलिता को तरोताजा करने तक, कहानी में बिद्या और डर्टी पिक्चर में बिंदास हॉट सिल्क और भावुक सुलु के रूप में, हर बार जब भी वह परदे पर उतरी है उन्होंने अपना जादू फैलाया है. विद्या अपने किरदारों को इस हद तक निभाती हैं कि वे न केवल पर्दे पर जीवंत हो जाती हैं, बल्कि असल भी लगती हैं.

ऋतिक रोशन ने कोरोना संकट के बीच फिर बढ़ाया मदद का हाथ, इतने लोगों के खातों में जमा किए पैसे

विद्या बालन (Vidya Balan) सभी एक्टर्स के लिए एक प्रेरणा है क्योंकि वह न केवल पर्दे पर निभाए जाने वाले किरदार की रंग में ढल जाती है बल्कि उनका अच्छी तरह से अध्ययन भी करती है, ताकि उनकी हर बारीकियों को सामने लाया जा सके. अब विद्या हमें गणित की अद्धभुत प्रतिभा और बहुचर्चित महिला शकुंतला देवी (Shakuntala Devi) की बहुप्रतीक्षित फिल्म में एक और दिलचस्प किरदार के साथ मंत्रमुग्ध करने के लिए तैयार हैं, जो की 31 जुलाई को रिलीज होने के लिए तैयार है. 


अदा शर्मा ने मेल्विन लुइस संग डांस से मचाया तहलका, बार-बार देखा जा रहा Video

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


दिलचस्प बात यह है कि बहुश्रुत शकुंतला देवी ने बांसुरी बजाई थी और जब विद्या को यह पता चला, तो उन्होंने बांसुरी बजाने का प्रशिक्षण लिया ताकि अपने किरदार में उतर सकें. विद्या ने वास्तविक शकुंतला देवी के सभी पहलुओं की खोज करने में गहरी दिलचस्पी ली और उनके सभी गुणों को इतना आत्मसात कर लिया कि उन्होंने बांसुरी बजाना सीख लिया, और हमारे पास उनके लिए बस एक ही शब्द है कि हर भूमिका को स्वीकार करने के लिए विद्या को प्रणाम करते. अपने कला के प्रति विद्या का समर्पण सराहनीय है.