सोनू सूद की टीम ने बेंगलुरु में बचाई 22 कोरोना मरीजों की जान

सोनू सूद (Sonu sood) की टीम ने बेंगलुरु में 22 कोरोना मरीजों की जान बचाई. उनके इस काम की खूब तारीफ हो रही है.

सोनू सूद की टीम ने बेंगलुरु में बचाई 22 कोरोना मरीजों की जान

सोनू सूद (Sonu Sood)

नई दिल्ली:

कोरोना (Corona Virus) के मामले दिन पर दिन पर दिन बढ़ते जा रहे हैं. देशभर की स्थिति सोचने पर मजबूर कर रही है. वहीं बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद (Sonu sood) लगातार जरूरतमंदो की मदद करते नजर आ रहे हैं. कभी एयरपोर्ट पर तो कभी ट्विटर पर लोग उनसे मदद की गुहार लगा रहे हैं. वहीं मंगलवार को सोनू सूद की वजह से 22 कोरोना मरीजों की जान बच गई. बता दें कि आधी रात को सोनू सूद को एक फोन आया फोन पर बताया गया कि अस्पताल की हालत काफी खराब है लोगों की जान बचाने के लिए मदद की जरूरत है. जिसके बाद 15 ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था की गई.


बता दें कि सोनू सूद की टीम से जब बेंगलूरु के एआरके अस्पताल ने मदद की गुहार लगाई, तो टीम ने ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था की. रिपोर्ट की माने को मंगलवार को सोनू सूद के चैरिटी फाउंडेशन को इंस्पेक्टर एमआर सत्यनारायण ने फोन किया. बताया गया था कि अस्पताल की हालत बुरी है ऑक्सीजन की कमी से दो मरीजों की जान जा चुकी है. इसपर सोनू सूद करते हैं कि "हमारी टीम देशवासियों की मदद करने के लिए हमेशा तैयार है. किसी की जान बचाना एक बड़ी उपलब्धि है. उन्होंने आगे कहा कि हमें जैसे ही इस बात की कन्फर्मेशन हुई हमने कुछ ही मिनटों में ऑक्सीजन की व्यवस्था करनी शुरू कर दी. पूरी टीम ने पूरी रात बिना कुछ सोचे अस्पताल को ऑक्सीजन सिलेंडर दिलवाने में मदद की. अगर इस बीच जरा भी देरी होती तो कई लोग अपने परिवार और करीबी को खो देते." 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बता दें कि सोनू सूद (Sonu Sood) लोगों की पढ़ाई, इलाज, काम काज, नौकरी हर चीज में मदद करते हुए नजर आते हैं. सोनू सूद की मदद के कारण कहीं गांव में उनकी मूर्ति बनाई गई तो कहीं उनकी पूजा भी की जाती है. उन्होंने अपने काम से लोगों का खूब दिल जीता है. लॉकडाउन के दौरान भी सोनू सूद ने लोगों की खूब मदद की थी. यहां तक कि उन्होंने विदेशों में फंसे छात्रों को भी प्लेन के जरिए भारत वापस बुलाया था. वर्कफ्रंट की बात करें तो हाल ही में उन्होंने फिल्म 'किसान' साइन की है. इसके अलावा वो जल्द ही 'पृथ्वीराज' में भी नजर आएंगे.