पतले दुबले लड़के से बांका नौजवान और फिर माचो मैन बनने तक, इन 60 फोटो में देखें 28 के गरम धरम से 88 के धर्मेंद्र बनने तक का सफर

बात चाहें एक्शन की हो, रोमांस की हो, जज्बात दिखाने हों या फिर कॉमेडी करना हो, इस एक्टर ने खुद को हर अंदाज में साबित किया. ये एक्टर हैं धर्मेंद्र. जिन्होंने अपने साठ साल लंबे करियर में बहुत से उतार चढ़ाव भी देखे और बहुत से बदलावों से भी गुजरे.

पतले दुबले लड़के से बांका नौजवान और फिर माचो मैन बनने तक, इन 60 फोटो में देखें 28 के गरम धरम से 88 के धर्मेंद्र बनने तक का सफर

पतले दुबले लड़के से बांका नौजवान फिर माचो मैन बनने तक,धर्मेंद्र का लुक

नई दिल्ली:

बॉलीवुड में हर स्टार अपनी एक अलग पहचान रखता है. किसी को रोमांटिक या चॉकलेटी हीरो का टैग मिलता है. तो, कोई एक्शन हीरो बनता है और कोई अपने स्वैग को लेकर फेमस होता है. इतना ही नहीं बॉलीवुड में आपको ट्रेजेडी किंग और एंग्री यंग मैन रखने वाले स्टार भी मिल जाएंगे. इन सबके बीच एक स्टार ऐसा भी है जो हर अंदाज में फिट नजर आया. बात चाहें एक्शन की हो, रोमांस की हो, जज्बात दिखाने हों या फिर कॉमेडी करना हो, इस एक्टर ने खुद को हर अंदाज में साबित किया. ये एक्टर हैं धर्मेंद्र. जिन्होंने अपने साठ साल लंबे करियर में बहुत से उतार चढ़ाव भी देखे और बहुत से बदलावों से भी गुजरे.

Dharmendra evolution (1960-present)
byu/ACTRESSESKAKURSI inClassicDesiCelebs

छह दशक में इतना बदले धर्मेंद्र

धर्मेंद्र ने फिल्म इंडस्ट्री में 1960 में कदम रखा. हालांकि उनकी पहली कुछ फिल्मों को खास कामयाबी नहीं मिली. लेकिन इस पंजाबी मुंडे को अनदेखा करना मुश्किल था. 1960 से लेकर धर्मेंद्र के लुक में कितना बदलाव आया, इस पर रेडिट पर एक वीडियो शेयर किया गया है. जिसमें धर्मेंद्र में साल दर साल आए बदलाव देखे जा सकते हैं. शुरूआती दिनों में पतले दुबले से नजर आने वाले धर्मेंद्र किस तरह एक हैंडसम यंग मैन में तब्दील हुए. उसके बाद किस तरह वो बॉलीवुड के पहले माचो मैन बने और उसके बाद एक सीनियर एक्टर नजर आने लगे. इसकी पूरी रील तैयार की गई है. खास बात ये है कि हर साल आ रहे बदलावों के साथ भी धर्मेंद्र साल दर साल और हैंडसम नजर आ लगे हैं.

इस फिल्म से बनी पहचान

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

धर्मेंद्र सबसे पहले लोगों की निगाह में तब आए जब उन्होंने फिल्म फेयर मैगजीन का न्यू टैलेंट अवॉर्ड जीता. जिसके बाद उन्हें मुंबई आकर फिल्म दिल भी तेरा हम भी तेरे में काम करने का मौका मिला. लेकिन न फिल्म चली न धर्मेंद्र की किस्मत चमकी. इसके बाद कुछ और फिल्मों में काम किया, शोला और शबनम और बंदिनी जैसी फिल्मों से धीरे धीरे पहचान मिलनी शुरू हुई. राजेंद्र कुमार और सायरा बानो के साथ वाली आई मिलन की बेला भी कामयाब रही. इसके बाद आई हकीकत फिल्म ने धर्मेंद्र को असल पहचान दिलाई और वो एक स्टार के रूप में स्थापित हुए.