CBSE के बाद अब इस राज्य का बोर्ड भी कम कर सकता है सिलेबस, जानिए डिटेल

कोरोनावायरस महामारी की वजह से विद्यालयों के बंद रहने के मद्देनजर गोवा माध्यमिक एवं उच्चतर माध्यमिक परीक्षा बोर्ड (GBSHSE) 2020-2021 के लिए 10वीं एवं 12वीं कक्षा के पाठ्यक्रमों को कम करने पर विचार कर रहा है.

CBSE के बाद अब इस राज्य का बोर्ड भी कम कर सकता है सिलेबस, जानिए डिटेल

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली:

कोरोनावायरस महामारी की वजह से विद्यालयों के बंद रहने के मद्देनजर गोवा माध्यमिक एवं उच्चतर माध्यमिक परीक्षा बोर्ड (GBSHSE) 2020-2021 के लिए 10वीं एवं 12वीं कक्षा के पाठ्यक्रमों को कम करने पर विचार कर रहा है. जीबीएसएचएसई (GBSHSE) अध्यक्ष रामाकृष्णन सामंत ने बुधवार को संवाददाताओं से कहा कि बोर्ड किसी भी फैसले पर पहुंचने से पहले प्रिंसिपल फोरम और गोवा हेडमास्टर एसोसिएशन के विचारों को ध्यान में रखेगा. उन्होंने कहा, "हम अगले कुछ दिनों में किसी फैसले पर पहुंचेंगे."

राज्य में 2020-21 शैक्षणिक सत्र की शुरुआत जून के पहले सप्ताह से होनी थी लेकिन यह अब तक भी शुरू नहीं हो पाया है. पिछले महीने गोवा शिक्षा विभाग की ओर से जारी आदेश में कहा गया कि तटीय राज्य में 31 जुलाई तक विद्यालय बंद रहेंगे.


वहीं, मंगलवार को केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक' ने घोषणा की थी कि कोविड-19 की वजह से शैक्षणिक सत्र को पहुंची क्षति की भरपाई के लिए सीबीएसई (CBSE) ने तर्कपूर्ण तरीके से शैक्षणिक सत्र 2020-21 के लिए पाठ्यक्रमों को 30 फीसदी तक कम किया है.  जिन विषयों को हटाया गया है, उनमें लोकतंत्र और विविधता, नोटबंदी, राष्ट्रवाद, धर्मनिरपेक्षता, पड़ोसी देशों के साथ भारत के संबंध और भारत में स्थानीय सरकारों का विकास शामिल हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


महामारी पर नियंत्रण के लिए केंद्र सरकार द्वारा देश भर में कक्षाओं को बंद करने की घोषणा के बाद से ही पूरे देश में विश्वविद्यालय और स्कूलों में 16 मार्च से कक्षाएं बंद हैं. देशव्यापी बंद की घोषणा 24 मार्च को हुई. हालांकि बंद में कई तरह की रियायतें दी गई लेकिन स्कूल और कॉलेज अब भी बंद हैं.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)