सुजैन खान ने बताया कैसे कोरोना वायरस महामारी के बीच फैमिली और काम दोनों कर रही हैं मैनेज

देश में कोरोना वायरस की महामारी के बीच सुजैन खान जो कि एक बिजनेस वुमन के साथ- साथ दो बच्चों की मां हैं वह किस तरह बैठाती हैं तालमेल, इस पर सुजैन ने NDTV से खास बातचीत की है.

सुजैन खान ने बताया कैसे कोरोना वायरस महामारी के बीच फैमिली और काम दोनों कर रही हैं मैनेज

सुजैन खान (Sussanne Khan) ने बताया कैसे कोरोना वायरस महामारी के बीच फैमिली

खास बातें

  • सुजैन खान से NDTV ने की खास बातचीत
  • सुजैन खान ने बताया किस तरह से वह फैमिली और काम को करती हैं मैनेज
  • सुजैन एक सफल बिजनैस वुमन हैं और वह अपने बच्चों को देती हैं ये खास टिप्स
नई दिल्ली:

बॉलीवुड एक्टर, प्रोड्यूसर और जाने माने डायरेक्टर संजय खान की बेटी सुजैन खान ने एक्टिंग में करियर बनाने के बजाय उन्होंने इंटिरियर डिजाइनिंग में अपना करियर बनाना बेहतर समझा और आज वह सक्सेसफुल बिजनेस वुमन हैं. सुजैन ने द चारकोल प्रोजेक्ट नाम का अपना एक इंटिरियर डिजाइन स्टूडियो भी बनाया है. यह प्रोजेक्ट सुजैन का सपना है. देश में कोरोना वायरस की महामारी के बीच सुजैन खान जो कि एक बिजनेस वुमन के साथ- साथ दो बच्चों की मां हैं वह किस तरह से काम और फैमिली दोनों के बीच बैठाती हैं तालमेल, इस पर सुजैन ने NDTV से खास बातचीत की है. सुजैन ने कहा यह एक ऐसा मौका है जब लोगों को घर की एहमियत समझ में आई है. क्योंकि महामारी के कारण ज्यादा से ज्यादा लोग अपने घरों में बंद है या वर्क फॉर्म होम कर रहे हैं तो इन दिनों लोग अपने घरों को सजाने पर ज्यादा जोड़ दे रहे हैं. इस दौरान घर के सजाने वाली समानों की बिक्री ज्यादा बढ़ी है. लोग इन दिनों डेस्क ज्यादा खरीद रहे हैं. ऑफिस डेस्क के साथ में उसमें ज्यादा से ज्यादा ड्रॉर लगवा रहे हैं.

 सुजैन आगे कहती हैं कि कोरोनावायरस महामारी के कारण इन दिनों लोग घर से काम कर रहे हैं, बच्चे घर से ऑनलाइन क्लास कर रहे हैं. तो ऐसे में घर ही ऑफिस और स्कूल दोनों बन गया है. इसलिए इन दिनों हम ज्यादा अच्छे से घर सजा रहे हैं ताकि फैमिली मेंबर को घर में रहना ज्यादा अच्छा लगे और वह आराम से काम कर सकें. 

कोरोनावायरस महामारी से पूरी देश की स्थिती खराब हो गई है तो ऐसे में कोई भी व्यक्ति कोई भी सामान लेने से पहले दो बार सोच रहा है, मैं खुद दो बार सोचती हूं कोई भी सामान खरीदने से पहले. क्योंकि इस स्थिती में खुद को सस्टेन और सुरक्षित रखना ही सबसे महत्वपूर्ण है.  


मेरे लिए डिजाइन के मायने काफी अलग है. मेरा दायरा काफी बड़ा है. मैं किसी एक डिजाइन से प्रभावित नहीं हूं. मेरे डिजाइन आदमी और औरतों दोनों को पसंद आएंगे क्योंकि दोनों को ध्यान में रखकर मैं हर चीज डिजाइन करती हूं. मेरे डिजाइन में नए पुराने सभी कुछ का मिश्रण मिल जाएगा. साथ ही साथ मैं अपने डिजाइन में मेटल का बहुत ज्यादा यूज करती हूं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


काम और फैमिली को लेकर सुजैन ने कहा कि यह बेहद खूबसूरत समय था जब मैंने काम के साथ- साथ अपने दोनों बच्चों पर ज्यादा से ज्यादा ध्यान दे पाई. मेरे दोनों बच्चों पर स्कूल का काफी प्रेशर है. मैं उनपर और दूसरी तरह का प्रेशर नहीं देना चाहती हूं. मेरा एक बच्चा 7 क्लास में है और एक 9 में है.. मैंने अपने बच्चों को ज्यादा से ज्यादा किताब पढ़ने के लिए कहा. साथ ही मैंने यह भी समझाया कि फोन पर किताबें पढ़ने के बजाय हार्ड कॉपी फॉर्म में पढ़ो. मैंने अपने बच्चे को समझाया कि फोन और बिना फोन के भी खुद को टाइम दो. इस दौरान मैंने अपने बच्चों को काम दोनों को समय दिया और अच्छे से समय दिया.