Sushant Singh Rajput की Kai Po Che को नौ साल पूरे, डायरेक्टर अभिषेक कपूर ने फिल्म को बताया 'मील का पत्थर'

दिवंगत एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की 'काय पो छे!' ने अपने नौ साल पूरे कर लिए हैं. जब 2013 में यह फिल्म रिलीज हुई थी तो अभिषेक कपूर की इस फिल्म को बॉलीवुड के लिए गेम-चेंजिंग स्टोरी बताया गया था.

Sushant Singh Rajput की Kai Po Che को नौ साल पूरे, डायरेक्टर अभिषेक कपूर ने फिल्म को बताया 'मील का पत्थर'

सुशांत सिंह राजपूत की 'काय पो छे!' को नौ साल पूरे

नई दिल्ली :

दिवंगत एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की 'काय पो छे!' ने अपने नौ साल पूरे कर लिए हैं. जब 2013 में यह फिल्म रिलीज हुई थी तो अभिषेक कपूर की इस फिल्म को बॉलीवुड के लिए गेम-चेंजिंग स्टोरी बताया गया था. रिलीज के नौ साल बाद भी, फिल्म अभी भी अपनी उच्च भावनाओं, बढ़िया पटकथा और शानदार निर्देशन के कारण दर्शकों के दिल और दिमाग में तरोताजा है. '3 मिस्टेक्स ऑफ माई लाइफ' का रूपांतरण 'काय पो छे!', 'रॉक ऑन और 'आर्यन: अनब्रेकेबल' की महत्वपूर्ण सफलता के बाद अभिषेक कपूर की तीसरी फिल्म थी. कई लोगों ने कहा कि चेंजमेकर ने 'हमें पूरी तरह से मनोरंजक फिल्म देकर सिनेमा का स्तर और ऊपर उठाया.' समीक्षकों से व्यापक प्रशंसा अर्जित करने के अलावा, फिल्म 2013 में एक बड़ी व्यावसायिक हिट बन गई थी. फिल्म में सुशांत सिंह राजपूत, राजकुमार राव और अमित साध लीड रोल में ते. 

पुरानी बातों को याद करते हुए, अभिषेक कपूर ने कहा, 'काय पो छे मेरी फिल्मोग्राफी में एक निर्णायक मील का पत्थर रही है. रॉक ऑन के बाद, चेहरों के साथ सुर्खियों में आए संवेदनशील मुद्दे पर आधारित एक प्रोजेक्ट को लेना काफी चुनौती भरा था. जिसने मुझमें एक कहानीकार को तैयार और संतुष्ट किया. यह देखना सुखद है कि फिल्म दर्शकों के दिलों में वर्षों से बसी हुई है. इन बातों ने निश्चित रूप से मेरे दृढ़ विश्वास को बढ़ावा दिया कि मैं हर प्रोजेक्ट के साथ अपनी सीमाओं को चुनौती देता रहूं.'

रेवोल्यूशनरी फिल्म निर्माता के रूप में सम्मानित, अभिषेक कपूर ने अपनी आखिरी फिल्म, चंडीगढ़ करे आशिकी के साथ भारतीय सिनेमा की सीमाओं को और बड़ा बना दिया है. ट्रांसजेंडर समुदाय के मुद्दे से निपटने के दौरान, मास्टर कहानीकार ने एक हल्का-फुल्का लेकिन संवेदनशील ड्रामा दिया. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बॉलीवुड एक्टर फरहान अख्तर और शिवानी दांडेकर शादी के बंधन में बंधे