श्वेता त्रिपाठी ने 'मिर्जापुर 2' के लिए ली गन ट्रेनिंग, बोलीं- पहली बार गन पकड़ी थी तो उसकी गूंज...

'मिर्जापुर' (Mirzapur 2) के एक्शन को लेकर इसकी एक्ट्रेस श्वेता त्रिपाठी (Shweta Tripathi) ने बातचीत की है.

श्वेता त्रिपाठी ने 'मिर्जापुर 2' के लिए ली गन ट्रेनिंग, बोलीं- पहली बार गन पकड़ी थी तो उसकी गूंज...

श्वेता त्रिपाठी (Shweta Tripathi) ने ली 'मिर्जापुर 2' (Mirzapur 2) के लिए गन ट्रेनिंंग

खास बातें

  • श्वेता त्रिपाठी ने ली 'मिर्जापुर 2' के लिए गन ट्रेनिंग
  • एक्ट्रेस ने कहा कि पहली बार इसकी गूंज ने मुझे हिलाकर रख दिया था...
  • 'मिर्जापुर 2' में गोलू का किरदार निभाएंगी श्वेता त्रिपाठी
नई दिल्ली:

'मिर्जापुर' सीजन 2 (Mirzapur 2) का ट्रेलर रिलीज हो चुका है, जिसने दर्शकों की एक्साइटमेंट को और बढ़ा दिया है. इस सीरीज में हर किरदार ने लोगों का दिल जीतने में कोई कसर नहीं छोड़ी थी. 'मिर्जापुर' सीरीज में एक्शन भी काफी मात्रा में देकने को मिला था. हाल ही में 'मिर्जापुर' के एक्शन को लेकर इसकी एक्ट्रेस श्वेता त्रिपाठी (Shweta Tripathi) ने बातचीत की है. दरअसल, श्वेता त्रिपाठी को भी मिर्जापुर की अपकमिंग सीरीज में अपनी बहन की मौत का बदला लेने के लिए भारी भरकम एक्शन सीन करने पड़े. जहां पिछले सीजन में वह गोलू एक नटखट महिला के रूप में दिखाई दी थीं तो वहीं इस बार सीरीज में उनका एक्शन अवतार देखने को मिला.


श्वेता त्रिपाठी (Shweta Tripathi) ने अपने एक्शन सीन के बारे में बात करते हुए कहा, "मुझे आज भी याद है कि मैंने पहली बार गन पकड़ी थी, उसकी गूंज ने मुझे पूरी तरह से हिला दिया था. मुझे तभी पता चल गया था कि मुझे इसके लिए प्रशिक्षण करना होगा. हमने असली बंदूकों का इस्तेमाल किया और इसलिए मैंने स्टंट डायरेक्टर मनोहर वर्मा के साथ फिल्म सिटी के पास उनके ट्रेनिंग आर्केड में अगले 10 दिनों तक ट्रेनिंग की. मैं प्रशिक्षण के दौरान कानो में एयर प्लग्स लगा के संगीत सुना करती थी. असली आत्मविश्वास सेट पर आया था. हाथ में दहकती गन लिए इमोशनल सीन्स को अंजाम देना और यह सुनिक्षित करना सब कुछ आसानी से हो जाये काफी कठिन था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


श्वेता त्रिपाठी (Shweta Tripathi) ने बताया, "यह पहली बार है जब मैं एक्शन सीन्स कर रही थी और मैंने शारीरिक रूप बहुत पहले ही इसकी तयारी शुरू कर दी थी. इस सीजन में मेरा किरदार एक दिलचस्प छाप लोगों को दिल और दिमाग पे छोड़ जायेगा. हम कई महिलाओं को बंदूक पकड़े हुए नहीं देखते हैं अगर मैं ऐसा कर रहा हूं, तो मैं इसे अच्छी तरह से करना चाहती थी."
 इस काम में उपलब्धि पाना एक कठिन हिस्सा था. उन्होंने बताया कि एक्शन सीन्स के लिए उन्होंने काफी मेहनत की है. उन्होंने कहा, "हमें एक्शन सीन्स सिखाये जाते थे शूट करने से पहले और इसे अच्छी तरह से कोरियोग्राफ किया जाता था. यह पूरा अनुभव एक यादगार सफर रहा जहाँ मैंने अपने किरदार की इतनी तयारी की थी."