IGNOU Projects: किस तरह सबमिट करनी है प्रोजेक्ट रिपोर्ट, यहां जानिए

IGNOU के क्षेत्रीय केंद्र विशाखापत्तनम ने प्रोजेक्ट्स सबमिट करने को लेकर एक प्रेजेंटेशन जारी की है.

IGNOU Projects: किस तरह सबमिट करनी है प्रोजेक्ट रिपोर्ट, यहां जानिए

TEE देने वाले उम्मीदवार 31 मई तक असाइनमेंट्स जमा कर सकते हैं.

नई दिल्ली:

कोरोनावायरस (Coronavirus) के प्रकोप को देखते हुए इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी (IGNOU) ने जून के महीने में होने वाले टर्म एंड एग्जामिनेशन (TEE) के लिए असाइनमेंट सबमिशन की आखिरी तारीख को दूसरी बार आगे बढ़ा दिया है. IGNOU ने हाल ही में ऑफिशियल स्टेटमेंट जारी कर के ये जानकारी साझा की. जून के महीने में होने वाले टर्म एंड एग्जामिनेशन (TEE) देने वाले उम्मीदवार अब 31 मई तक अपने असाइनमेंट्स जमा कर सकते हैं. बता दें कि पहले असाइनमेंट सबमिट करने की आखिरी तारीख 30 अप्रैल थी, जिसे बढ़ाकर अब 31 मई कर दिया गया है. वहीं, एग्जाम फॉर्म बिना किसी लेट फीस के 15 मई तक जमा किए जा सकेंगे. 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि IGNOU के क्षेत्रीय केंद्र विशाखापत्तनम ने प्रोजेक्ट्स सबमिट करने को लेकर एक प्रेजेंटेशन जारी की है. स्टूडेंट्स इस प्रेजेंटेशन की मदद से अपनी प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार कर सकते हैं. स्टूडेंट्स इस बात का ध्यान रखें कि निर्धारित तिथि के बाद सबमिट किए गए प्रोजेक्ट की रिपोर्ट को अगली परीक्षा के लिए माना जाएगा. उम्मीदवार अपने प्रोजेक्ट का कार्य शुरू करने से पहले प्रोजेक्ट कोऑर्डिनेटर से सिनोप्सिस अप्रूव करवा लें. 

Click Here To Know How To Submit IGNOU Project Reports


IGNOU के तहत कुछ शैक्षणिक प्रोग्राम्स में प्रत्येक कोर्स की जरूरत के हिसाब से प्रोजेक्ट रिपोर्ट के साथ असाइनमेंट्स, प्रैक्टिकल एग्जाम, टर्म एंड एग्जाम को सफलतापूर्वक पूरा करना जरूरी होता है. कुछ  प्रोग्राम्स में कोर्स की जरूरत के हिसाब से प्रोजेक्ट शामिल होते हैं. प्रोजेक्ट कार्य के लिए व्यापक प्रोजेक्ट गाइड स्टडी मटेरियल के साथ यूनिवर्सिटी द्वारा प्रदान की जाती है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


प्रोजेक्ट बेस्ड कोर्सेस में उम्मीदवार रिजल्ट की जल्दी घोषणा के लिए आवेदन नहीं कर सकते हैं. बता दें कि ये स्टूडेंट्स के लिए  एक तरह की सुविधा है, जिसमें स्टूडेंट्स 1000 रुपये जमा करके अपनी आगे की पढ़ाई या जॉब पाने के उद्देश्य से रिजल्ट जल्दी जारी करने के लिए अनुरोध कर सकते हैं. इसके अलावा प्रोजेक्ट बेस्ड कोर्सेस में दोबारा जांच करने की अनुमति भी नहीं है.