यूपीआई कारोबार खड़ा करने के लिए हमारे पास पैसे नहींः एक्सिस बैंक प्रमुख

एक्सिस बैंक के प्रबंध निदेशक ने कहा कि बैंक या अन्य संस्थान इन प्रौद्योगिकी-आधारित कंपनियों की तरह भारी निवेश कर घाटा उठाने का जोखिम नहीं उठा सकते हैं.

यूपीआई कारोबार खड़ा करने के लिए हमारे पास पैसे नहींः एक्सिस बैंक प्रमुख

मुंबई:

यूपीआई भुगतान प्रणाली लागू करने से जुड़ी तैयारियों में ढिलाई बरतने पर रिजर्व बैंक की आलोचना के संदर्भ में एक्सिस बैंक के मुखिया ने गुरुवार को कहा कि बैंकों के पास इस तरह का कारोबार खड़ा करने के लिए पैसे नहीं हैं. एक्सिस बैंक के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अमिताभ चौधरी ने भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के डिप्टी गवर्नर टी रविशंकर की एक टिप्पणी के बारे में पूछे जाने पर कहा, 'हमारे पास नुकसान उठाने के लिए 3,000 करोड़ रुपये नहीं थे.'

निजी क्षेत्र के तीसरे बड़े बैंक के प्रमुख चौधरी ने यहां एक कार्यक्रम में कहा कि 'यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस' (यूपीआई) जैसे कारोबार घाटे में चल रहे हैं और इनमें नकदी की भी किल्लत है. इसके साथ ही उन्होंने यूपीआई-आधारित कारोबारों का मूल्यांकन लगातार बढ़ते जाने पर भी आश्चर्य जताया.

आरबीआई के डिप्टी गवर्नर टी रविशंकर ने गत दिनों कहा था कि कुछ बैंकों ने यूपीआई कारोबार के लिए शुरुआती निवेश नहीं किया, जिससे वे इस कारोबार में पिछड़ रहे हैं.

चौधरी ने कहा कि यूपीआई भुगतान में गूगल पे और फोनपे जैसी कंपनियां इसलिए मोटा निवेश कर रही हैं कि उनके पास दूसरे कारोबार भी हैं. इस क्षेत्र में आगे की राह यही है कि या तो वे एक वितरक के तौर पर काम कर शुल्क वसूलें या फिर इसी तरह के कारोबार में बैंकों के साथ मुकाबला करें.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

उन्होंने कहा, 'बैंक या अन्य संस्थान इन प्रौद्योगिकी-आधारित कंपनियों की तरह भारी निवेश कर घाटा उठाने का जोखिम नहीं उठा सकते हैं.'

Featured Video Of The Day

निवेशकों का आईटी सेक्टर से उठा भरोसा, ढूंढ रहे हैं दूसरे विकल्प