सिंगर रुपिंदर हांडा ने किसानों के लिए बनाया लंगर, कभी ब्रेड पकौड़े तलती तो कभी रोटी बेलती आईं नजर- देखें Video

सिंगर रुपिंदर हांडा (Rupinder Handa) बॉर्डर पर लगातार किसानों का समर्थन कर रही हैं. हाल ही में वह किसानों के लिए लंगर बनाती नजर आईं. जिसके वीडियो उन्होंने इंस्टाग्राम पर शेयर किए हैं.

सिंगर रुपिंदर हांडा ने किसानों के लिए बनाया लंगर, कभी ब्रेड पकौड़े तलती तो कभी रोटी बेलती आईं नजर- देखें Video

किसान आंदोलन में सिंगर रुपिंदर हांडा (Rupinder Handa) के ये वीडियो खूब वायरल हो रहे हैं.

खास बातें

  • सिंगर रुपिंदर हांडा के वीडियो हुए वायरल
  • बॉर्डर पर किसानों के लिए ब्रेड पकौड़े तलती आईं नजर
  • सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है Video
नई दिल्ली:

हरियाणा (Haryana) के किसानों (Farmers) के एक वर्ग ने पंजाब के किसानों से खुद को अलग कर लिया है. वे कृषि कानूनों (Farm Laws) संशोधनों (Amendments) के साथ स्वीकार करने के लिए तैयार हो गए हैं. इसी बीच सिंगर रुपिंदर हांडा (Rupinder Handa) लगातार किसानों का समर्थन कर रही हैं. अब हाल ही में सिंगर बॉर्डर पर बैठे किसानों के लिए रोटियां और ब्रेड पकौड़े बनाती नजर आईं. इसके वीडियो रुपिंदर ने अपने इंस्टाग्राम एकाउंट पर शेयर किए हैं. बता दें, पंजाब की फेमस सिंगर रुपिंदर हांडा टिकरी बॉर्डर पर किसानों के साथ आंदोलन में हिस्सा ले रही हैं. 


सिंगर रुपिंदर हांडा (Rupinder Handa Instagram) द्वारा शेयर किए गए इन वीडियो में देखा जा सकता है कि वह कैसे दूसरे लोगों के साथ मिलकर लंगर बनाने में हाथ बंटा रही हैं. कभी ब्रेड पकौड़े के लिए बेसन का घोल बना रही हैं. तो कभी रोटियां बेल रही हैं. रुपिंदर हांडा के इस जज्बे को देखकर हर कोई उनकी तारीफ कर रहा है. वीडियो में देखा जा सकता है कि सिंगर किस तरह किसानों का मनोरंजन भी कर रही हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
       

सिंगर रुपिंदर हांडा (Rupinder Handa) ने इन सभी वीडियो को शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा, "टिकरी बॉर्डर पर, आज भी लंगर सेवा ला रहे हैं. वाहेगुरु भला करे." रुपिंदर हांडा के इस वीडियो पर लोग खूब कमेंट कर रहे हैं और अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं. बता दें, किसानों के आह्वान पर आज भारत बंद रहेगा. बता दें, किसान नेताओं के साथ सरकार की बैठक से पहले तीन किसान सगठनों के प्रतिनिधि, जिन्होंने हरियाणा के 1,20,000 किसानों का प्रतिनिधित्व करने का दावा किया है, मंगलवार शाम को कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर (Narendra Tomar) से मिले. तीन संगठनों द्वारा हस्ताक्षरित एक पत्र में कहा गया है : "इन बिलों को किसान संगठनों के सुझावों के अनुसार जारी रखा जाना चाहिए. जैसा कि किसान संगठनों ने सुझाव दिया है, हम MSP और मंडी प्रणाली के पक्ष में हैं. लेकिन हम आपसे अनुरोध करते हैं कि इन कानूनों को सुझाए गए संशोधनों के साथ जारी रखा जाना चाहिए."