Sandeep Nahar को बचपन से थी एक्टिंग में दिलचस्पी, राम लीला और स्कूल ड्रामा से यूं तय की MS Dhoni तक की राह

संदीप नाहर (Sandeep Nahar) को बचपन से ही ड्रामा, स्कूल के कार्यक्रमों और राम लीला में हिस्सा लेने का काफी शौक था.

Sandeep Nahar को बचपन से थी एक्टिंग में दिलचस्पी, राम लीला और स्कूल ड्रामा से यूं तय की MS Dhoni तक की राह

संदीप नाहर (Sandeep Nahar) को बचपन से था एक्टिंग का शौक

खास बातें

  • संदीप नाहर को बचपन से ही था एक्टिंग का शौक
  • 2009 में अपने सपने को सच करने के लिए मुंबई आए थे एक्टर
  • 2016 में मिला था एक्टर को 'एम एस धोनी' में अहम भूमिका निभाने का मौका
नई दिल्ली:

'एम.एस धोनी' (MS Dhoni) और 'केसरी' (Kesari) जैसी फिल्मों के जरिए बॉलीवुड में अपनी पहचान बनाने वाले संदीप नाहर (Sandeep Nahar) का निधन हो गया. संदीप नाहर मुंबई में स्थित अपने घर में मृत पाए गए थे. खुदकुशी से पहले उन्होंने फेसबुक से एक वीडियो पोस्ट किया था, जिसमें उन्होंने अपनी पत्नी और बॉलीवुड में हुई राजनीति को कथित तौर पर खुदकुशी का कारण बताया है. संदीप नाहर के निधन को लेकर पुलिस अधिकारी ने बताया कि नाहर शाम को उपनगरीय गोरेगांव में अपने फ्लैट पर बेहोश पाए गए. उनकी पत्नी कंचन और उनके दोस्त उन्हें एसवीआर अस्पताल ले गए, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया.

संदीप नाहर (Sandeep Nahar) का जन्म हरियाणा के काल्का जिले में 25 दिसंबर, 1987 को हुआ था. उनके पिता का नाम विजय कुमार है और मां का नाम सुषमा रानी है. बचपन से ही संदीप को ड्रामा, स्कूल के कार्यक्रमों और राम लीला में हिस्सा लेने का काफी शौक था. संदीप का सपना म्यूजिक वीडियो में एक्ट करने का भी था और उनके इसी सपने ने उन्हें एक्टर बनने में मदद की. ऐसे में संदीप अपने एक्टिंग के सपने को पूरा करने के लिए साल 2009 में मुंबई आ गए थे. लेकिन उन्होंने अपने करियर की शुरुआत क्लब में एक बाउंसर के तौर पर की थी. अपने काम और सपने को पूरा करने के कारण संदीप नाहर अपना खान-पान भी सही से नहीं कर पा रहे थे, जिससे वह अपने घर वापस लौट गए. 


संदीप (Sandeep Nahar) ने साल 2012 में वापस मुंबई आने के बारे में सोचा और उन्होंने इस बार उन्होंने अपने एक्टिंग के सपने को पूरा करने के लिए एड़ी-चोटी तक का जोर लगा दिया था. धीरे-धीरे संदीप नाहर को टीवी सीरियल में रोल मिलना शुरू हो गए. उन्होंने सीआईडी, क्राइन पैट्रोल, सावधान इंडिया और दीया और बाती हम जैसे करीब 15 टीवी सीरियल्स में काम किया. साल 2014 में उन्हें पंजाबी फिल्म हैप्पी गो लक्की में एक नेगेटिव किरदार निभाने का मौका मिला. वहीं, साल 2016 में उन्होंने सुशांत सिंह राजपूत की फिल्म एम.एस धोनी में अहम भूमिका निभाई, जो कि उनके करियर का बड़ा प्रोजेक्ट भी था. इस फिल्म के तुरंत बाद ही संदीप नाहर को अक्षय कुमार के साथ फिल्म केसरी में भी काम करने का मौका मिला.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


संदीप नाहर (Sandeep Nahar) ने सोनाक्षी सिन्हा (Sonakshi Sinha) की फिल्म खानदानी शफाखाना और शुक्राणु जैसी फिल्मों में भी अहम भूमिका अदा की थी. फिल्मों से इतर संदीप ने डिजिटल प्लेटफॉर्म पर भी अपनी किस्मत बखूबी आजमाई. वह ऑल्ट बालाजी सीरीज 'कहने को हमसफर हैं' में भी अहम किरदार निभाते दिखे. इंस्टाग्राम पर उनके 34 हजार से भी ज्यादा फॉलोअर्स हैं. वह अकसर अपनी फोटो और वीडियो शेयर कर फैंस के साथ भी बखूबी जुड़े रहते थे.