कोरोना की वजह से गई 5 स्टार शेफ की नौकरी, अब सड़क पर खिला रहे लोगों को बिरयानी

अक्षय पारकर कोरोना के पहले बहुत अच्छी लाइफस्टाइल जी रहे थे. वे इंटरनेशनल क्रूज और 5 और 7 स्टार होटलों में शेफ की नौकरी कर चुके हैं. लेकिन, केरोना महामारी के इस दौर में उनकी 8 साल पुरानी नौकरी भी चली गई.

कोरोना की वजह से गई 5 स्टार शेफ की नौकरी, अब सड़क पर खिला रहे लोगों को बिरयानी

कोरोना की वजह से गई 5 स्टार शेफ की नौकरी, अब सड़क पर खिला रहे लोगों को बिरयानी

मुंबई:

साल 2020 दुनियाभर के लिए ही बहुत दुखद और बुरा साबित हो रहा है. कहीं किसी की नौकरी चली गई तो कहीं किसी का कोई अपना बिछड़ गया. बहुत से लोग बेघर हुए तो बहुत से लोग बेरोजगार. कोरोनावायरस महामारी ने दुनियाभर में लोगों से उनका बहुत कुछ छीन लिया है. यहां तक कि देश की आर्थिक व्यवस्था भी खराब हो गई है. कोरोना के चलते हुए लॉकडाउन की वजह से बहुत से बीमारियों का शिकार हो गए और मानसिक रूप से भी परेशान हुए. लेकिन, इन सबके बीच कुछ लोग ऐसे भी हैं जिन्होंने अपना बहुत कुछ खोने के बाद भी आशा की उम्मीद नहीं छोड़ी. उन्हीं में से एक हैं मुंबई के शेफ अक्षय पारकर. बता दें कि अक्षय पारकर कोरोना के पहले बहुत अच्छी लाइफस्टाइल जी रहे थे. वे इंटरनेशनल क्रूज और 5 और 7 स्टार होटलों में शेफ की नौकरी कर चुके हैं. लेकिन, केरोना महामारी के इस दौर में उनकी 8 साल पुरानी नौकरी भी चली गई.

साहिल आनंद के हाथ से कोरोना के कारण छूट गए थे कई प्रोजेक्ट, इंटरव्यू में बोले- मुझे इसका अफसोस नहीं...

djhhh9c

लेकिन, अक्षय ने हार नहीं मानी और अपनी इतनी अच्छी लाइफस्टाइल जीने के बावजूद अपना गुज़ारा करने के लिए रोडसाइड बिरयानी स्टॉल खोल ली. नौकरी जाने के बाद उन्होंने मुंबई में ही अपनी बिरयानी स्टॉल खोली है और इस स्टाल पर वे लोगों को 5 स्टार क्वालिटी वाली बिरयानी खिलाते हैं. अक्षय पारकर की दिल को छू लेने वाली कहानी तब सुर्खियों में आ गई जब उन्होंने फेसबुक पर ‘बीइंग मालवानी 'नामक एक पेज पर एक पोस्ट शेयर किया और अपनी कहानी उसपर शेर की. अक्षय पारकर ने मुंबई के दादर में शिवाजी मंदिर के सामने पारकर बिरयानी हाउस के नाम से एक छोटा सा फूड स्टॉल खोला है. मेनू में बिरयानी की तीन किस्में हैं - वेज बिरयानी, औरा (अंडा) बिरयानी और चिकन बिरयानी, जिसकी कीमत हाफ प्लेट के लिए 65 रुपए और फुल प्लेट के लिए 140 रुपए है.

100 करोड़ का जुर्माना झेल रहे कोविड वैक्सीन के वॉलंटियर की पत्नी बोलीं- 'हम चुप नहीं रह सकते थे'


अब अक्षय पारकर होम डिलेवरी भी देते हैं और शादी और पार्टियों के लिए केटरिंग ऑर्डस भी लेते हैं. वे किलो के हिसाब से भी रीजनेबल कीमत में बिरयानी बेचते हैं. जैसे कि वेज बिरयानी- 800 रुपए किलो और नॉन वेज बिरयानी 900 रुपए किलो. खबरों के मुताबिक, अक्षय पारकर परिवार के इकलौते कमाई करने वाले सदस्य हैं और उन्होंने नौकरी जाने के बाद अपना समय बिल्कुल भी बर्बाद नहीं किया. अक्षय पारकर की आत्मनिर्भर व्यवसाय की इस दिल को छू लेने वाली कहानी ने बहुत से लोगों के अंदर उम्मीद जगा दी है. ये पोस्ट अब सोशल मीडिया पर बहुत तेजी से वायरल हो रही है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com