जरीन खान का सालों बाद छलका दर्द बोलीं- मैं सलमान और उनके भाइयों की पीठ पर...

जरीन खान ने साल 2010 में फिल्म वीर से अपने करियर की शुरुआत की. इस फिल्म में उनके साथ सलमान खान थे. कहते हैं कि सलमान के साथ करियर शुरु करने वाली एक्ट्रेसेस का करियर खुद बा खुद चल पड़ता है, लेकिन ऐसा जरीन के मामले में नहीं हुआ.

जरीन खान का सालों बाद छलका दर्द बोलीं- मैं सलमान और उनके भाइयों की पीठ पर...

जरीन खान का सालों बाद छलका दर्द

नई दिल्ली:

जरीन खान बॉलीवुड की एक ऐसी एक्ट्रेस हैं जो भले ही पर्दे पर खास नजर ना आईं हो, लेकिन वे किसी ना किसी वजह से चर्चाओं में बनी रहती हैं. सोशल मीडिया पर वे अपने फैंस के साथ आए दिनों कुछ ना कुछ ऐसा शेयर करती हैं जिसे देख फैंस की निगाहें हटने का नाम नहीं लेती हैं. वहीं हाल ही में Zareen Khan ने कुछ ऐसी बात कही है, जिसके बाद तो वे फैंस क्या सेलेब्स भी इस बात पर विश्वास नहीं कर पा रहे हैं. जरीन खान ने साल 2010 में फिल्म वीर से अपने करियर की शुरुआत की. इस फिल्म में उनके साथ सलमान खान थे. कहते हैं कि सलमान के साथ करियर शुरु करने वाली एक्ट्रेसेस का करियर खुद बा खुद चल पड़ता है. सलमान जरीन तो सपोर्ट करते आए हैं, सोर्स की माने को जरीन के करियर के लिए सलमान हमेशा साथ रहे हैं. लेकिन जरीन के बोल इस वाक्य से एक दम हटके हैं. 

इन सभी बातों पर प्रतिक्रिया देते हुए Zareen Khan कहती हैं कि वह कोई बंदर नहीं बन सकतीं जो हमेशा उनके और उनके भाइयों के पीठ पर रहे. एक अंग्रेजी वेबसाइट के इंटरव्यू के मुताबिक जरीन इंडस्ट्री से बहुत संतुष्ट रही हैं. वह किसी दौड़ का हिस्सा नहीं बनीं. वे कहती हैं कि वे काफी बदली हैं. जब आप ए-लिस्टर का हिस्सा नहीं होंगे तो लोग आपका इंतजार नहीं करेंगे. इसके आगे वे कहती हैं कि लोगों का अभी भी मानना है कि सलमान खान मेरी मदद करते रहे हैं. हालांकि मैं सलमान का शुक्रिया करती हूं क्योंकि उन्होंने मुझे इंडस्ट्री में घुसने का मौका दिया, लेकिन मेरा संघर्ष तब शुरू हुआ जब मैं इंडस्ट्री का हिस्सा बनी. वे कहती हैं कि सलमान काफी अच्छे इंसान हैं, लेकिन वे काफी बिजी रहते हैं. मैं हर छोटी बात के लिए उनके और उनके भाइयों की पीठ पर बंदर बनकर नहीं रह सकती. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


लोग सोचते हैं कि आज जो भी मैं काम कर रही हूं वह सलमान खान की वजह से हो रहा है. जबकि इसमें सच्चाई नहीं है. सलमान मेरे अच्छे दोस्त हैं. बस एक फोन कॉल दूर है, लेकिन मैं उन्हें हमेशा परेशान नहीं करती हूं. ऐसा करना आपकी मेहनत को कमजोर करता है.