प्राण के साथ दिख रही यह हसीना ‘किसिंग गर्ल’ के नाम से थी मशहूर, फिल्में छोड़ कर बन गई थी इस राज घराने की राजमाता

सोनिया साहनी देव आनंद, किशोर कुमार, महमूद, संजीव कुमार, सुजीत कुमार जैसे बड़े स्टार्स की बतौर हीरोइन फिल्मों में दिखीं.बाद में वह फिल्मों में सेकेंड लीड में दिखीं. वह 1973 में आई फिल्म बॉबी में मिसेज सुषमा नाथ के रोल में नजर आई थीं. 

प्राण के साथ दिख रही यह हसीना ‘किसिंग गर्ल’ के नाम से थी मशहूर, फिल्में छोड़ कर बन गई थी इस राज घराने की राजमाता

एक समय में लोकप्रिय एक्ट्रेस रह चुकी इस हसीना ने राजकुमार से की थी शादी

नई दिल्ली :

बॉलीवुड में कई नए चेहरे आते हैं और कुछ ही फिल्मों से फैंस के दिलों में जगह बना लेते हैं. इनमें कुछ स्टार्स बॉलीवुड में लंबे समय तक अपनी जगह बनाए रखते हैं तो कई फिल्मों को अलविदा भी कह देते हैं. आज हम आपको ऐसी ही एक खूबसूरत एक्ट्रेस के बारे में बता रहे हैं जो अपनी फिल्मों के साथ ही अपनी पर्सनल लाइफ को लेकर भी खूब सुर्खियों में रहीं.  एक्ट्रेस ऊषा उर्फ सोनिया साहनी अपने समय की चर्चित एक्ट्रेस थीं. उन्होंने कई फिल्मों में बतौर हीरोइन काम किया.

सोनिया पाकिस्तान के एक सिख परिवार से थीं, लेकिन भारत- पाकिस्तान बंटवारे के बाद उनके माता पिता ने अपना धर्म बदल कर ईसाई कर लिया. सोनिया का असली नाम था ऊषा साहनी था. उनके पिता लाहौर से और मां थीं पेशावर से थीं. बंटवारे के बाद उनका परिवार कश्मीर में रहने लगा. उनके 8 भाई-बहन थे और उषा उनमें से सबसे छोटी थीं. वह बचपन से काफी तेज और खूबसूरत थीं. 

बचपन में उन्होंने थिएटर में काम कियाय उनके टैलेंट को फिल्ममेकर रूप शौरी और आईएस जौहर ने पहचाना और मुंबई आने को कहा. 1965 में वो मुंबई आई और उनके साथ 5 साल का कॉन्ट्रैक्ट किया.  फिल्मों में सफल होने के लिए उनका नाम बदल कर सोनिया साहनी कर दिया गया.

60-70 के दशक में जब हीरोइनें जब फिल्मों में किसिंग सीन नहीं करती थीं, तब उन्होंने अपनी पहली ही फिल्म 'जौहर और महमूद इन गोवा' में आईएस जौहर के साथ किसिंग सीन दिया था. उन्हें तब 'किसिंग गर्ल' कहा जाने लगा था. कहा जाता है कि सेंसर बोर्ड इस सीन पर काफी आपत्ति जताई थी.  

सोनिया ने देव आनंद, किशोर कुमार, महमूद, संजीव कुमार, सुजीत कुमार जैसे बड़े स्टार्स के साथ काम किया. बाद में वह फिल्मों में सेकेंड लीड में दिखीं. वह 1973 में आई फिल्म बॉबी में मिसेज सुषमा नाथ के रोल में नजर आई थीं. 

पर्सनल लाइफ को लेकर रही सुर्खियों में 
सोनिया जब करियर के पीक पर थीं, तभी उन्हें शिव पलिताना से प्यार हो गया. शिव ब्रिटिश शासन के दौरान प्रसिद्ध पालिताना रियासत के राजकुमार थे. उनका पूरा नाम शिवेंद्र सिंह गोयल था. इसे अब सूरत या काठियावाड़ के नाम से भी जाना जाता है. शिव पहले से ही शादीशुदा थे और उनका एक बच्चा भी था. कहा जाता है कि शादी से पहले दोनों कुछ समय तक लिव-इन में रहे. 1976 में दोनों ने शादी की और उनका एक बच्चा हुआ. सोनिया तब फिल्में छोड़ कर राजमाता बन चुकी थीं. 1990 में शिव की हार्ट अटैक से मौत हो गई और इसके बाद उनकी दुनिया बदल गई.

पति की मौत के बाद शिव के परिवार वाले उन्हें परेशान करने लगे. सोनिया को बेटे को दिमागी समस्या थी, ऐसे में उसे मेंटली चैलेंज बच्चों के स्कूल में भेजना पड़ा. सोनिया की कहानी किसी फिल्म की कहानी से कम नहीं है. उन्होंने जिंदगी में कई उतार-चढ़ाव देखे. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

       

उस दौर में 'दुपट्टा, बंदिश, सस्ता खून महंगा प्यार, कौन हो तुम, शाफत, उपासना, बुड्ढा मिल गया, अंदाज़, जंगल में मंगल, जुगनू, चोरनी' सहित सोनिया ने करीब 60 से ज्यादा फिल्मों में काम किया. 2015-2017 तक वह टीवी सीरियल 'संतोषी मां' समेत कई शोज में नजर आईं.