NDTV Khabar

रेप के आठ साल बाद पीड़िता को मिला मुआवजा

 Share

तमिलनाडु के चेंगलपट्टू में एक लड़की के लिए न्याय की लड़ाई काफी लंबी रही. लड़की के साथ साल 2013 में उसके ही रिश्तेदार ने रेप की वारदात को अंजाम दिया था. अदालत ने आरोपी को दोषी करार दिया, लेकिन पीड़िता को कोई मुआवजा नहीं दिया गया. वह उस समय नाबालिग थी. इस मामले में कैलाश सत्यार्थी चिल्ड्रन फाउंडेशन की सहयोगी संस्था बचपन बचाओ आंदोलन के दखल के बाद बच्ची और उसकी मां दोनों को बड़ी राहत मिली है. यौन शोषण की शिकार बालिकाओं को समय पर न्याय सुनिश्चित करने के लिए और अभी दान करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.



Advertisement

 
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com