विवेक तिवारी गोलीकांड : अपनी ही पुलिस पर बरसे योगी सरकार के मंत्री, ‘लीपापोती करने वाले अफसर बचेंगे नहीं’

उत्‍तर प्रदेश के कानून मंत्री बृजेश पाठक ने विवेक तिवारी हत्‍याकांड को लेकर अपनी ही सरकार की पुलिस की कड़ी आलोचना की.

विवेक तिवारी गोलीकांड : अपनी ही पुलिस पर बरसे योगी सरकार के मंत्री, ‘लीपापोती करने वाले अफसर बचेंगे नहीं’

योगी सरकार के मंत्री ने यूपी पुलिस की कड़ी आलोचना की.

खास बातें

  • अपनी ही पुलिस पर बरसे योगी सरकार के मंत्री
  • ‘लीपापोती करने वाले अफसर बचेंगे नहीं’
  • उन्होंने कहा कि पुलिस से ऐसी उम्मीद नहीं थी
लखनऊ:

उत्‍तर प्रदेश के कानून मंत्री बृजेश पाठक ने राजधानी लखनऊ में एक पुलिसकर्मी द्वारा कथित रूप से अंजाम दिये गये विवेक तिवारी हत्‍याकांड को लेकर अपनी ही सरकार की पुलिस की कड़ी आलोचना करते हुए रविवार को कहा कि पुलिस के ऐसे अकल्‍पनीय घृणित कार्य की लोपापोती का प्रयास करने वाले अफसरों को कत्तई बख्‍शा नहीं जाएगा. पाठक ने रात में संवाददाताओं से कहा, “विवेक तिवारी की हत्‍या ने हम सबको अंदर तक झकझोर दिया है. पुलिस ऐसा गंदा और घृणित कृत्‍य कर सकती है, मुझे उम्‍मीद नहीं थी.”

यह भी पढ़ें: विवेक तिवारी मर्डर: 'पुलिस अंकल! आप गाड़ी रोकेंगे तो पापा रुक जाएंगे...प्लीज गोली मत मारियेगा'

उन्‍होंने कहा “जिस ढंग से इस हत्‍याकाण्‍ड के बाद पुलिस ने लापरवाही बरती. उसकी एकमात्र चश्‍मदीद गवाह सना खान को 17 घंटे तक अपने कब्‍जे में रखा. सादे कागज पर हस्‍ताक्षर लिये. मुकदमा जिस तरह लिखा जाना चाहिये था, नहीं लिखा. सना के बयान और मुकदमे की इबारत में तालमेल नहीं है. पूरी तरह से केस की लीपापोती करने का प्रयास किया गया. हम जिम्‍मेदारी से कह रहे हैं कि हम इस मामले में किसी भी लीपापोती करने वाले अफसर को बिल्‍कुल नहीं बख्‍शेंगे.”

यह भी पढ़ें: दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल ने BJP से पूछा, विवेक तिवारी तो 'हिंदू' था उसे क्यों मारा? मृतक की पत्नी ने कही यह बात...

कानून मंत्री ने कहा कि उन्‍होंने विभिन्‍न समाचार चैनलों पर देखा कि विवेक के कातिल पुलिसवाले को जिस ढंग से पुलिस ने गोद में उठाकर दिखाया है, वह बहुत ही दुखद है. कातिल की सजा जेल में होनी चाहिये, उसे सख्‍त से सख्‍त सजा मिलनी चाहिये. उन्‍होंने कहा कि वह इस मामले में लापरवाही और लीपापोती करने वाले अफसरों के खिलाफ कार्रवाई के लिये मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ से सिफारिश करेंगे. इसके अलावा वह अदालत से भी अपील करेंगे, कि पूरे प्रकरण को फास्‍ट ट्रैक कोर्ट को सौंप दे जिससे पीड़ित परिवार को जल्‍द न्‍याय मिल सके.

VIDEO: मृतक विवेक तिवारी की पत्नी से कब मिलेंगे CM योगी?
पाठक ने कहा कि उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री से पीड़ित परिवार से मिलवाने का समय मांगा है, जैसे ही समय मिलेगा, वह मिलवाएंगे. मालूम हो कि शुक्रवार/शनिवार की रात करीब डेढ़ बजे कथित रूप से चेकिंग के लिये गाड़ी ना रोकने पर प्रशांत चौधरी नामक पुलिस कांस्‍टेबल ने कार सवार ‘एप्‍पल’ कम्‍पनी के वरिष्‍ठ अधिकारी विवेक तिवारी (38) की गोली मारकर हत्‍या कर दी थी. इस मामले में दोनों आरोपी पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार करके बर्खास्‍त कर दिया गया है.


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com