सुनो...सुनो...सुनो जिन लोगों के पास भी लूटे गए हथियार हैं उन्हें तुरंत वापस कर दो, विकास दुबे के गांव में यूपी पुलिस की मुनादी

कानपुर के बिकरू गांव का कुख्यात विकास दुबे पुलिस के हाथों शुक्रवार की सुबह मारा गया है. लेकिन अब पुलिस के सामने जहां सवालों की लंबी फेरहिस्त है तो एक और बड़ा सिरदर्द भी.

सुनो...सुनो...सुनो जिन लोगों के पास भी लूटे गए हथियार हैं उन्हें तुरंत वापस कर दो, विकास दुबे के गांव में यूपी पुलिस की मुनादी

विकास दुबे के गांव में यूपी पुलिस मुनादी कर रही है

लखनऊ:

कानपुर के बिकरू गांव का कुख्यात विकास दुबे पुलिस के हाथों शुक्रवार की सुबह मारा गया है. लेकिन अब पुलिस के सामने जहां सवालों की लंबी फेरहिस्त है तो एक और बड़ा सिरदर्द भी. दरअसल 3 जुलाई की रात जब गांव में पुलिस टीम की पर गोलियां चलाई गई थीं तो उस घटना में पुलिसकर्मियों के हथियार भी लूट लिए गए थे. अब उनको ढूंढना भी एक बड़ी चुनौती बन गई है. पुलिस की एक टीम बाकायदा उस बिकरू इलाके में पहुंची है और मुनादी कर रही है कि जिस किसी के पास भी पुलिस वालों के हथियार हैं वो सूचित करके जमा करवा दे नहीं तो उसके विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जाएगी. पुलिस की एक जीप से माइक के द्वारा इस बात की मुनादी की जा रही है.  


गौरतलब है कि गुरुवार की सुबह उज्जैन में महाकाल के दर्शन के दौरान विकास दुबे पुलिस के हत्थे चढ़ा था. इसके बाद उसे मध्य प्रदेश की पुलिस ने यूपी एसटीएफ को सौंप दिया. उज्जैन से कानपुर लाने के दौरान भौंती नाम की जगह पर कथित तौर पर एसटीएफ के काफिले में शामिल एक एसयूवी पलट जाती है. पुलिस के मुताबिक इसका फायदा उठाकर विकास दुबे पुलिसकर्मियों के हथियार छीनकर भागने की कोशिश करता है. पुलिस उसको रोकती है लेकिन वह फायर करता है जवाबी कार्रवाई में वह मारा जाता है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


हालांकि पुलिस की इस थ्योरी पर कई तरह के सवाल भी उठ रहे हैं. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के मुताबिक विकास दुबे को चार गोलियां लगी हैं. शुक्रवार की देर शाम तक उसका शव परिजनों को सौंप दिया गया था जिसका कानपुर में अंतिम संस्कार कर दिया गया है.