इस 50:30:20 के रूल से हर महीने पैसे बचा पाएंगे आप, ना खत्म होगी सैलरी और ना बिगड़ेगा बजट 

Salary Saving Tips: पैसे बचाना चाहते हैं फिर भी हर महीने जेब खाली हो जाती है तो अपनाकर देखिए 50:30:20 रूल. पैसों की किल्लत से नहीं होना पड़ेगा दोचार. 

इस 50:30:20 के रूल से हर महीने पैसे बचा पाएंगे आप, ना खत्म होगी सैलरी और ना बिगड़ेगा बजट 

What Is 50:30:20 Rule: इस रूल से बचेगी आपकी सैलेरी. 

खास बातें

  • जानिए 50:30:20 रूल के बारे में.
  • पैसे बचाने में मिलेगी मदद.
  • सैलरी महीना खत्म होने से पहले नहीं होगी छूमंतर.

Saving Tips: हम में से ना जाने कितने ही लोग हैं जिनकी सैलरी (Salary) के साथ-साथ खर्चे भी बढ़ जाते हैं और लगता है जैसे पैसों की किल्लत दूर होने का नाम ही नहीं ले रही. सही बजट (Budget) ना बनाने से पैसे बचाने की कोशिश बस धरी की धरी ही रह जाती है और महीना खत्म होने से पहले जेब एकबार फिर खाली ही नजर आती है. अगर आपकी दिक्कत भी यही है तो आपको भी 50:30:20 रूल अपनाने की जरूरत है. यह रूल क्या है, इससे क्या फायदे होता और इसे कैसे अपनाया जा सकता है, जानें यहां.

चेहरे को स्क्रब करते समय इन 5 बातों का ध्यान रखना है जरूरी, गलत Scrub स्किन डैमेज की बनता है वजह 


सैलरी बचाने के लिए 50:30:20 रूल | 50:30:20 To Save Salary 


50:30:20 रूल बजट बनाने का एक तरीका है जिसमें आसान और कारगर तरीके से पैसे बचाए जा सकते हैं. इसका बेसिक रूल है कि आपको अपनी सैलरी को सबसे पहले तीन हिस्सों में बांटना है. सैलरी का 50 फीसदी हिस्सा आपको अपनी जरूरत की चीजों के लिए रखना है, 30 फीसदी हिस्सा उन चीजों को दें जिन्हें खरीदने की आप इच्छा रखते हैं और बचा हुआ 20 फीसदी आपको हर महीने जमा करके रखना होगा या कहें इसकी बचत (Savings) करनी होगी. 


50 फीसदी खर्च 

बजट बनाने के 50:30:20 रूल के अनुसार अपनी जरूरत की चीजों में 50 फीसदी सैलरी खर्च करें. इसमें आपका मासिक किराया, बिजली का बिल, गैस का बिल, यातायात का खर्च. इंश्योरेंस, लोन के पैसे और घर की खानपान की चीजें आ सकें. आप साथ ही ये कोशिश कर सकते हैं कि आपकी सैलरी का आधा खर्च इन सब चीजों को पूरा करने के लिए पर्याप्त हो या फिर आप खर्चों पर थोड़ी रोक लगा सकते हैं. 

20 फीसदी खर्च 

यह पैसे आप अपने शौक की चीजों में खर्च कर सकते हैं. बाहर खाना, घूमने जाना, कपड़े लेना, जिम के पैसे, एंटरटेनमेंट और स्नैक्स वगैरह लेने में खर्च करें. इस रूल का यह बिल्कुल मतलब नहीं है कि आप अपना मन मारकर जियें, इसलिए शौकिया चीजों के लिए भी पैसे रखें. 

20 फीसदी 


सैलरी के 20 फीसदी पैसों को आप बचत के लिए रखें. इन्हें आप अपने बैंक अकाउंट में रख सकते हैं और अपने अकाउंट में ना रख सकें तो फिर अलग सेविंग अकाउंट खोलें जिसका मकसद सिर्फ सेविंग करना हो. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
       


 

Featured Video Of The Day

वाईएसआरटीपी नेता वाईएस शर्मिला ने गिरफ्तारी को लेकर NDTV से खास बातचीत की