आप अपनी शादी के कौन से फेज से गुजर रहे हैं, जानने के बाद रिश्ता होगा और भी मजबूत

Stages of marriage : लव मैरिज हो या फिर अरेंज्ड, अंडरस्टैंडिंग और कंपैटिबिलिटी इसके दो बहुत इंपॉर्टेंट फैक्टर होते हैं. ऐसे में लगभग हर कपल को इस लाइफटाइम रिलेशनशिप में कई स्टेजेस से होकर गुजरना पड़ता है. चलिए आपको बताते हैं वह स्टेज.

आप अपनी शादी के कौन से फेज से गुजर रहे हैं,  जानने के बाद रिश्ता होगा और भी मजबूत

शादी के 5 बेहद इंपोर्टेंट स्टेज जो आपके लिए जानना जरूरी है.

Marriage Stages : शादी किसी की भी जिंदगी का सबसे खूबसूरत रिश्ता और बेहद खुशनुमा एहसास होता है. लव मैरिज हो या फिर अरेंज्ड, अंडरस्टैंडिंग और कंपैटिबिलिटी इसके दो बहुत इंपॉर्टेंट फैक्टर हैं. ऐसे में लगभग हर कपल को इस लाइफटाइम रिलेशनशिप में कई स्टेजेस से होकर गुजरना पड़ता है. तो आज हम आपको बताने जा रहे हैं शादी के 5 बेहद इंपोर्टेंट स्टेज जो आपके लिए जानना जरूरी हैं.

हनीमून स्टेज

आम तौर पर शादी के पहले दो साल लाइफ के सबसे खूबसूरत 2 साल होते हैं. इस वक्त कपल्स अपने पूरे पैशन और अट्रैक्शन में होते हैं. शादी के बाद लगभग हर कपल इस वक्त बिताए खूबसूरत और यादगार पलों को यादों में संजोकर रख लेना चाहता है. यही वजह है की शादी के बाद शुरुआत का समय बिल्कुल हनीमून स्टेट जैसा होता है. ये वो वक्त होता है जब कपल्स रोमांस में डूबे हुए होते हैं और हर वक्त साथ चलने के लिए तैयार रहते हैं.

रिएलाइज़ेशन

शादी के इस स्टेज में हनीमून पीरियड खत्म हो जाता है और लाइफ को लेकर रियल विज़न आपको क्लीयरली नज़र आने लगता है. इस स्टेज में आप पाते हैं कि आपका जीवनसाथी न सिर्फ खूबियों से भरा हुआ है बल्कि इंसान होने के नाते उसमें कई सारी खामियां भी है. ढेर सारे डिसएप्वाइंटमेंट और स्ट्रगल के बीच मैरिज के इस स्टेज को एक्सेप्ट करना थोड़ा मुश्किल होता है. क्योंकि ये वो पहला कदम होता है जब आप दोनों एक दूसरे को वैसे स्वीकार करते हैं जैसे आप हैं.

मोहभंग

रिश्ते का तीसरा स्टेज डिसिल्यूशनमेंट यानी मोहभंग का फेज़ है. ये ऐसा वक्त है जब धीरे-धीरे बातें लड़ाईयों में तब्दील होने लगती हैं. इस फेज़ में कपल्स एक दूसरे के साथ रिलेशनशिप सुधारने में कम और अपने आप को उस रिश्ते में सही साबित करने में ज्यादा एफर्ट लगाने लगते हैं. छोटी छोटी सी बातों पर दोनों अग्रेसिव हो जाते हैं. ये शादी का सबसे इंपॉर्टेंट और टफ फेज होता है क्योंकि इस वक्त पार्टनर्स का एक दूसरे से मोहभंग होने लगता है और अपनी एनर्जी घर पर कम बाहर ज्यादा लगाने लगते हैं.

डिसीज़न

शादी के इस स्टेज में ,कपल्स को ये एहसास होना शुरू हो जाता है कि उन्होंने किसी ऐसे व्यक्ति से शादी की है जो परफेक्ट नहीं है. ऐसे में ये स्टेज होता है निर्णय लेने का. शादी के इन सालों में आप ब्रेकिंग प्वाइंट पर होते हैं. ढेर सारी जिम्मेदारियों के बीच कपल्स एक दूसरे को समय नहीं दे पाते और यही रिश्तो में दूरी पैदा होने की वजह बन जाता है. घंटों तक घर से बाहर रहना, इमोशनल ब्रेकडाउन होना, एक दूसरे से छोटी-छोटी बातों पर झगड़ना और सेल्फ प्रोटेक्टिव बिहेवियर करना इस फेज का नॉर्मल बिहेवियर है. ऐसे में शादी के इस चरण में या तो कपल्स एक दूसरे से अलग होने का फैसला कर लेते हैं या फिर रिश्ते को दोबारा सुधारने का एफर्ट लगाते हैं और न्यू स्टार्ट करते हैं.

हैप्पी स्टार्ट अगेन

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


रिश्ते के पांचवें स्टेज़ में बहुत सारे प्यार के साथ हेल्दी रिलेशनशिप की शुरुआत होती है. ये शादी का वो स्टेज है जब कपल्स अपने रिश्ते को हर पैमाने पर उतारने के बाद एक कंपलीट रिलेशनशिप बनाते हैं. इस रिश्ते में कपल्स एक्सेप्टेंस की अनुभूति होती है. इस स्टेज में कपल्स इंपरफेक्शन के साथ भी एक परफेक्ट कपल की तरह रहना सीख जाते हैं. इस स्टेज पर आकर कपल्स को इस बात का अहसास होता है कि पर्फेक्ट रिलेशनशिप नाम की कोई चीज नहीं होती. दोनों को मिलकर इंपरफेक्ट रिश्ते को परफेक्ट बनाने की कोशिश करनी होती है.