मुंबई में पहली बारिश ने खोली ड्रेनेज सिस्टम की पोल, कई इलाकों में अब भी भरा पानी

मॉनसून की पहली ही बारिश में मुंबई के ड्रेनेज सिस्टम की पोल खुल गई है. जगह-जगह जलजमाव से परेशानी हो रही है.अगले तीन दिन तक भारी बारिश का अलर्ट है.

मुंबई में पहली बारिश ने खोली ड्रेनेज सिस्टम की पोल, कई इलाकों में अब भी भरा पानी

मुंबई पहुंचा मॉनसून, लोगों को मिली राहत

मुंबई:

मुंबई में आज सुबह मॉनसून (Mumbai Monsoon) ने अपनी पहली दस्तक दे दी. यहां मॉनसून तय वक़्त से दो तीन पहले पहुंच गया है. कई इलाक़ों में तेज़ तो कई इलाक़ों में रुक-रुक कर बारिश हो रही है. मॉनसून की पहली ही बारिश में मुंबई के ड्रेनेज सिस्टम की पोल खुल गई है. जगह-जगह जलजमाव से परेशानी हो रही है.अगले तीन दिन तक भारी बारिश का अलर्ट है. मौसम विभाग के मुताबिक दक्षिण पश्चिम मॉनसून की पहली बारिश मुंबई में हो रही है. इसके अलावा आज से लेकर 12 जून के  बीच मुंबई, पुणे और कोंकण के कई इलाक़ों भारी बारिश की चेतावनी दी है. बारिश के बाद एहतियातन मुंबई के निचले इलाक़ों में बीएमसी कर्मचारियों की तैनाती की गई है. ये वो इलाक़े हैं  जहां बारिश के तुरंत बाद पानी भर जाता है. इस बीच आज मुंबई में 11 बज कर 43 मिनट पर हाई टाइड आने की बात है और ऐसे में अगर बारिश होती रहती है तो इन इलाक़ों में  पानी जमा होने की आशंका है.

समंदर में हाई टाइड को लेकर लोगों में घबराहट की स्थिति थी लेकिन हाईटाइड का वक्त बीत चुका है और समंदर में पानी उतरना शुरू हो गया है. हालांकि लगातार हो रही बारिश की वजह से अभी भी अंधेरी सबवे सहित कई इलाकों में पानी भरा हुआ है. खार में SV रोड पर चारों ओर पानी भर गया है, खार सबवे भी बंद है. मुम्बई के साकीनाका इलाके में नाले के मरम्मत और सफाई काम पूरा नहीं होने से नाराज़ मनसे कार्यकर्ता भारी बारिश में ही सड़कों पर धरने में बैठे. इन MNS कार्यकर्ताओं का आरोप है कि, नाले के मरम्मत और सेफ्टी वाल का काम नहीं पूरा होने से आम नागरिकों की जान से खिलवाड़ हो रहा है. BMC के भ्रष्‍टाचार की वजह से यह सेफ्टी वॉल नहीं बनी, ऐसे में कोई बड़ा हादसा हो सकता है और जान जा सकती है.

मॉनसून ने दी दस्तक
भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के मुंबई कार्यालय के प्रमुख डॉ. जयंत सरकार ने कहा, ‘‘मुंबई में आज मानसून ने दस्तक दे दी है.'' बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) ने कहा कि अरब सागर में दोपहर के आसपास चार मीटर से अधिक की ऊंची लहरें उठने की संभावना है. शहर के कई हिस्सों और उपनगरों में सुबह बादल गरजने के साथ ही भारी बारिश हुई.

जानें कितनी हुई बारिश
आईएमडी के अनुसार, दक्षिण मुंबई का प्रतिनिधित्व करने वाली कोलाबा वेधशाला में पिछले 24 घंटों में 77.4 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई जबकि सांताक्रूज वेधशाला (उपनगरों) में 59.6 मिमी. बारिश दर्ज की गई. बीएमसी के अनुसार, शहर, पूर्वी उपगनरों और पश्चिमी उपनगरों में बुधवार को सुबह आठ बजे तक 24 घंटों की अवधि में क्रमश: 48.49 मिमी., 66.99 मिमी और 48.99 मिमी. बारिश दर्ज की गई. बीएमसी के एक अधिकारी ने बताया कि सुबह 11 बजकर 43 मिनट पर 4.16 मीटर ऊंची लहरें उठने की संभावना है। आईएमडी ने मुंबई तथा उपनगरों में मध्यम बारिश के साथ आंशिक रूप से बादल छाए रहने का अनुमान जताया है। कुछ स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश की संभावना है.


लोकल ट्रेनें प्रभावित नहीं
मध्य रेलवे के मुख्य प्रवक्ता शिवाजी सुतार ने कहा, ‘‘मुंबई में बारिश हो रही है लेकिन ट्रेनें चल रही हैं.''
आईएमडी ने शनिवार को महाराष्ट्र में दक्षिण पश्चिम मानसून के दस्तक देने की पुष्टि की थी. मानसून तटीय रत्नागिरी जिले के हरनाई में पहुंचा था लेकिन अनुकूल परिस्थितियां होने के बावजूद मानसून धीमी गति से बढ़ता दिखाई दे रहा है.  

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


(इनपुट्स भाषा से भी)