CAA के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन, मंगलुरु में 2 और लखनऊ में एक प्रदर्शनकारी की मौत 

ताज़ा ख़बर मंगलुरु से आ रही है, जहां विरोध प्रदर्शन के दौरान गंभीर रूप से घायल दो लोगों की मौत हो गई है. दोनों लोगों को आईसीयू में भर्ती कराया गया था.

CAA के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन, मंगलुरु में 2 और लखनऊ में एक प्रदर्शनकारी की मौत 

CAA के खिलाफ देशभर में हिंसक प्रदर्शन का दौर जारी है.

नई दिल्ली :

नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment ACT) के खिलाफ देश के कई हिस्सों में हुए विरोध प्रदर्शन का दौर जारी है. ताज़ा ख़बर मंगलुरु से आ रही है, जहां विरोध प्रदर्शन के दौरान गंभीर रूप से घायल दो लोगों की मौत हो गई है. दोनों लोगों को आईसीयू में भर्ती कराया गया था. मंगलुरु के पुलिस कमिश्नर का कहना है कि 20 पुलिसवाले भी घायल हुए हैं. राज्य के गृह मंत्री का दावा है कि इस हिंसा के पीछे बड़ी साज़िश है. इस बीच पूरे मंगलुरु में कर्फ्यू लगा दिया गया है और इंटरनेट बंद कर दिया गया है. उधर, उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में हुई प्रदर्शन के दौरान कथित रूप से 'पुलिस की गोली से घायल' हुए एक शख्स की मौत हो गई. वकील नाम के जिस शख्स की मौत हुई है वह पुराने लखनऊ के हुसैनगंज के रहने वाले थे.

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी बोले- NRC फिलहाल असम के लिए, विपक्ष कर रहा लोगों को गुमराह  

किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के ट्रॉमा सेंटर ने आधिकारिक रूप से NDTV को जानकारी दी कि हिंसा के बाद चार लोगों को भर्ती कराया गया था, जिनमें से तीन कथित तौर पर गोली लगने से घायल थे. इसमें से एक शख़्स की मौत हो गई है. हालांकि पुलिस ने अब तक इसकी पुष्टि नहीं की है. लखनऊ के परिवर्तन चौक पर सपा और लेफ्ट के विरोध प्रदर्शन के दौरान जम कर हंगामा हुआ. मीडिया की तीन ओबी वैन और कई दूसरी गाड़ियां जला दी गईं. पुराने लखनऊ के खदरा में, एक पुलिस चौकी में तोड़फोड़ हुई और यहां भी गाड़ियां जलाई गईं. ठाकुरगंज में भी यही सब होता रहा.  

...जब पूर्व PM मनमोहन सिंह ने किया था CAA का समर्थन, BJP ने VIDEO शेयर कर कांग्रेस को घेरा

एक पुलिस चौकी में आगज़नी और कुछ गाड़ियां जलाई गईं. इधर, दिल्ली में भी लाल क़िले से लेकर आइटीओ तक और मंडी हाउस से लेकर जंतर-मंतर तक प्रदर्शनकारियों को रोकने की कोशिश भी होती रही और उनके जत्थे भी निकलते रहे. सुबह 11 बजे लाल किले के मैदान में पुलिस ने योगेंद्र यादव को हिरासत में ले लिया. उनके साथ सैकड़ों और लोग हिरासत में लिये गए. वहां करीब 20 गाड़ियां प्रदर्शनकारियों को लेकर निकलीं. आइटीओ में प्रशांत भूषण और हर्षमंदर को रोका गया. मंडी हाउस में प्रकाश करात और सीताराम येचुरी रोके गए. इन सबके बावजूद जंतर-मंतर पर हजारों लोग जुटे.मुंबई में भी तमाम वर्गों के लोग विरोध में उतरे. पूरा अगस्त क्रांति मैदान भरा दिखा. लोग तरह-तरह के झंडों के साथ नज़र आए. जहां तक नज़र जाती थी, वहां लोग ही लोग. 

CAA को लेकर हिंसा पर बोले CM योगी, उपद्रवियों की संपत्ति जब्त कर करेंगे नुकसान की भरपाई


 इस हुजूम में फिल्मी सितारे भी नज़र आए. यहां भी मुंबई पुलिस की जय-जय के नारे लग गए. विरोध की तरह-तरह की तस्वीरें पूरे देश से आती रहीं. तमाम शहरों में लोग कहीं जुलूस निकालते दिखे, कहीं नारे लगाते, कहीं धरना देते और कहीं बैठे हुए लोग नज़र आए. प्रदर्शन की एक दिलचस्प तस्वीर बेंगलुरु से आई. आइआइएम बेंगलुरु के छात्रों को जब प्रदर्शन के लिए निकलने की इजाज़त नहीं दी गई तब लड़कों ने अपने जूते गेट के बाहर रखकर विरोध जताया. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: लखनऊ में CAA के खिलाफ उग्र हुआ प्रदर्शन