इस मामले में दिल्ली हाईकोर्ट ने जगदीश टाइटलर की याचिका खारिज की, लगाया जुर्माना

टाइटलर ने पासपोर्ट अधिकारियों द्वारा उन्हें थमाए गए कारण बताओ नोटिस के खिलाफ अदालत का दरवाजा खटखटाया था.

इस मामले में दिल्ली हाईकोर्ट ने जगदीश टाइटलर की याचिका खारिज की, लगाया जुर्माना

कांग्रेस नेता जगदीश टाइटलर.

नई दिल्ली:

दिल्ली हाईकोर्ट ने कांग्रेस नेता जगदीश टाइटलर पर 10 हजार रुपये का जुर्माना लगाया और पासपोर्ट अधिकारियों को कथित रूप से गलत जानकारी देने के मामले में उन्हें दिए गए कारण बताओ नोटिस के खिलाफ उनकी अर्जी को खारिज कर दी. न्यायमूर्ति विभू बाखरू ने टाइटलर से दिल्ली उच्च न्यायालय में हर्जाने की राशि जमा करने को कहा. विस्तृत आदेश बाद में जारी किया जाएगा.

यह भी पढ़ें : गलत सूचना देने पर जगदीश टाइटलर का पासपोर्ट जब्त, CBI को कार्रवाई करने का निर्देश

टाइटलर ने पासपोर्ट अधिकारियों द्वारा उन्हें थमाए गए कारण बताओ नोटिस के खिलाफ अदालत का दरवाजा खटखटाया था. अधिकारियों ने उनसे पूछा था कि पासपोर्ट के नवीनीकरण के लिए कथित रूप से गलत जानकारी जमा करने के मामले में उनका पासपोर्ट क्यों ना जब्त कर लिया जाना चाहिए. सीबीआई ने एक निचली अदालत में कहा था कि टाइटलर ने अपने पासपोर्ट का नवीनीकरण कराते समय पासपोर्ट अधिकारी के सामने गलत तरह से यह बात कही थी कि उनके खिलाफ कोई आपराधिक मामला लंबित नहीं है.

VIDEO : सिख विरोधी दंगों में मेरा हाथ नहीं : जगदीश टाइटलर

निचली अदालत को यह भी बताया गया कि उन्हें नया पासपोर्ट मिल चुका है, जबकि अदालत से अनापत्ति प्रमाणपत्र मांगने का उनका आवेदन लंबित है. सुनवाई के दौरान टाइटलर की ओर से वरिष्ठ वकील अरविंद निगम ने दावा किया कि गलती दुर्भावना से नहीं की गई और नेता की पासपोर्ट अधिकारियों से तथ्य छिपाने की कोई मंशा नहीं थी. इस पर उच्च न्यायालय ने वकील से रिकॉर्ड में यह दिखाने को कहा कि उन्होंने स्वेच्छा से निचली अदालत को कहां बताया है कि गलती दुर्भावना से नहीं की गई. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com