कानपुर के बदमाश विकास दुबे को शरण देने वाला श्रवण कोरोना पॉजिटिव पाया गया

अब उन पुलिस वालों का कोरोना टेस्ट होगा जो जिन्होंने तीन आरोपियों को फरीदाबाद में गिरफ्तार किया था

कानपुर के बदमाश विकास दुबे को शरण देने वाला श्रवण कोरोना पॉजिटिव पाया गया

फरीदाबाद में बदमाश विकास दुबे के तीन साथी पकड़े गए जिसमें से श्रवण कोरोना पॉजिटिव है.

नई दिल्ली:

फरीदाबाद में विकास दुबे के एक गुर्गे प्रभात, अंकुर और उसके पिता श्रवण को गिरफ्तार किया गया है. फरीदाबाद पुलिस ने उनका कोरोना का टेस्ट कराया तो श्रवण पॉजिटिव पाया गया. अंकुर और प्रभात निगेटिव हैं. प्रभात को यूपी एसटीएफ ले गई है. अब उन पुलिस वालों का कोरोना टेस्ट होगा जो उन्हें गिरफ्तार करके लाए थे. विकास दुबे भी इनके साथ रहा है. उसके भी कोरोना पॉजिटिव होने की आशंका है.

कानपुर के कुख्यात बदमाश विकास दुबे के मुख्य साथी सहित दो अन्य आरोपियों को फरीदाबाद क्राइम ब्रांच ने दबोच लिया है. विकास दुबे के सहयोगी आरोपी कार्तिकेय उर्फ प्रभात ने पुलिस से घिरा देख पुलिस पर फायरिंग की. क्राइम ब्रांच ने चारों तरफ से घेरकर उसे दबोच लिया. प्रभात से 4 पिस्टल  और 44 जिंदा राउंड बरामद किए गए.

मंगलवार को क्राइम ब्रांच फरीदाबाद को गुप्त सूचना मिली कि उत्तर प्रदेश के कुख्यात बदमाश विकास दुबे के कुछ सहयोगी आरोपी हथियार सहित न्यू इंदिरा नगर काम्पलेक्स हरि नगर नहर पार एरिया में छुपे हुए हैं. सूचना वरिष्ठ अधिकारियों को भेजी गई. पुलिस आयुक्त ओपी सिंह ने डीसीपी क्राइम मकसूद अहमद को आरोपियों की धरपकड़ के लिए आवश्यक दिशानिर्देश दिए.

क्राइम ब्रांच 48, क्राइम ब्रांच ऊंचा गांव और क्राइम ब्रांच बीपीटीपी की तीन टीमों के साथ नहर पार एरिया में रेड की गई. रेड के दौरान एक घर मे छुपे हुए बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग कर भागने की कोशिश की लेकिन क्राइम ब्रांच की टीम की घेराबंदी और सतर्कता के चलते आरोपियों को मौके पर ही धरदबोचा.

पुलिस ने कार्तिकेय उर्फ प्रभात, अंकुर पुत्र श्रवण और श्रवण पुत्र खेरेशवर को गिरफ्तार कर लिया. डीसीपी क्राइम मकसूद अहमद ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ पुलिस टीम पर फायरिंग करने व अवैध हथियार रखने सहित आईपीसी  की  संबंधित धाराओं  के अंतर्गत थाना खेड़ी पुल में मुकदमा दर्ज किया गया है.

उत्तर प्रदेश के बदमाश प्रभात को आरोपी अंकुर और उसके पिता श्रवण ने अपने घर में पनाह दी थी.
पूछताछ पर बदमाश प्रभात ने बताया कि उसने और  कुख्यात बदमाश विकास दुबे ने, विकास  की भाभी की मौसी शांति मिश्रा के घर में पनाह ली थी. विकास दुबे पुलिस पार्टी के आने से कुछ घंटे पहले फरार हो गया था.


बदमाश प्रभात ने पूछताछ पर बताया कि वह विकास दुबे के साथ बिखरू गांव में हुए हत्याकांड में पुलिस पार्टी पर फायर करने में शामिल था. प्रभात ने बताया कि विकास दुबे और वह पुलिस पार्टी पर हमला करके घायल पुलिस वालों की दो पिस्टल और जिंदा राउंड छीनकर मौके से फरार हो गए थे. फरार होने के बाद दो दिन तक दोस्त के घर शिवली यूपी में रहे थे. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बदमाश प्रभात ने  पूछताछ में बताया कि पुलिस पार्टी पर हमला करने वाला अन्य मुख्य आरोपी अमर दुबे  अभी हमीरपुर यूपी में मौजूद है.