यह ख़बर 28 दिसंबर, 2011 को प्रकाशित हुई थी

भारत-जापान व्यापार 2014 तक 25 अरब डॉलर

खास बातें

  • भारत और जापान ने 2014 तक आपसी व्यापार 25 अरब डॉलर तक पहुंचाने और निवेश तथा आर्थिक सहयोग बढ़ाने का लक्ष्य तय किया।
नई दिल्ली:

भारत और जापान ने बुधवार को 2014 तक आपसी व्यापार 25 अरब डॉलर तक पहुंचाने और निवेश तथा आर्थिक सहयोग बढ़ाने का लक्ष्य तय किया। भारत की आधिकारिक यात्रा पर आए जापान के प्रधानमंत्री योशिहिको नोडा ने यहां कहा कि भारत और जापान के बीच अच्छे कूटनीतिक सम्बंध हैं और दोनों देशों को व्यावसायिक और आर्थिक सहयोग का विस्तार करना चाहिए। नोडा ने यहां एक व्यापारिक बैठक को भी सम्बोधित किया। उन्होंने कहा कि भारत और जापान विभिन्न क्षेत्रों में आपसी सहयोग बढ़ा रहे हैं। इसमें परमाणु सहयोग और आर्थिक साझेदारी शामिल हैं। बैठक को सम्बोधित करते हुए केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री आनंद शर्मा ने कहा कि दोनों देशों ने आपसी व्यापार 2014 तक बढ़ाकर 25 अरब डॉलर करने का लक्ष्य तय किया है, जो पिछले कारोबारी साल में 14 अरब डॉलर था। नोडा दो दिनों की भारत यात्रा पर आए हैं उनके साथ सरकार के कई वरिष्ठ अधिकारी और बड़ी कम्पनियों के प्रमुख भी आए हैं। शर्मा ने जापानी कारोबारियों से कहा कि वे संयुक्त उपक्रम और साझेदारी के माध्यम से भारत में कारोबारी गतिविधियां बढ़ाएं। शर्मा ने कहा कि भारतीय औषधि कम्पनियां जापान के स्वास्थ्य रक्षा कार्यक्रम में बड़ी भूमिका निभा सकती हैं और उन्होंने जापानी अधिकारियों से भारतीय कम्पनियों को जापानी बाजार के बड़े हिस्से में पहुंचने की सुविधा देने का अनुरोध किया। मंत्री ने प्रस्तावित दिल्ली-मुम्बई औद्योगिक गलियारे में जापानी सहयोग की प्रशंसा की और कहा कि इस पर कम से कम 100 अरब डॉलर खर्च होने की सम्भावना है। उन्होंने कहा कि जापानी कम्पनियों ने इस परियोजना पर 4.5 अरब डॉलर खर्च करने का संकल्प जताया है जबकि भारत सरकार ने चार अरब डॉलर खर्च करने का वादा किया है।


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com